दृश्यम 2 रिव्यू: अजय देवगन की यह फिल्म थ्रिलर और सस्पेंस से भरा है

दृश्यम 2 रिव्यू: हर कोई जानता है कि दृश्यम 2 मोहनलाल की की मलयालम फिल्म का रीमेक है। मोहनलाल और अजय देवगन एक ब्रांड हैं और दृश्यम 2 अब भारतीय फिल्म उद्योग में सबसे बड़े ब्रांड में से एक है। हम उन लोगों को सलाह देते हैं पहला पार्ट जरूर देखे जिन्होंने नहीं देखा है।

दृश्यम 2 में अजय देवगन, श्रिया सरन, इशिता दत्ता, मृणाल जाधव, रजत कपूर और तब्बू हैं, जो थ्रिलर के पहले भाग से अपनी भूमिकाओं को दोहरा रहे हैं। फिल्म में नया जुड़ाव अभिनेता अक्षय खन्ना का है, जो एक पुलिस वाले की भूमिका में हैं।

फिल्म ने प्रशंसकों की उत्सुकता को बढ़ा दिया है क्योंकि यह दृश्यम (2015) की अगली कड़ी है।

विजय और सलगांवकर परिवार, जिसमें उनकी पत्नी नंदिनी (श्रिया सरन), और दो बेटियां, अंजू और अनु (इशिता दत्ता और मृणाल जाधव) शामिल हैं, अपने अतीत के माध्यम से तैरने की कोशिश कर रहे हैं और एक नया जीवन शुरू करने का प्रयास कर रहे हैं। लेकिन उनके अंदर एक डर होता है कि भविष्य में कुछ अनहोनी हो सकती है और वास्तव में आगे जाकर कुछ ऐसा ही होता है।

अगर मैं फर्स्ट हाफ की बात करूं तो मुझे लगता है कि मैं पार्ट 1 लिख रहा हूं लेकिन सेकेंड हाफ ग्रिपिंग है। कहानी रेखा विशेष रूप से अद्भुत है। अक्षय खन्ना ने दमदार लुक दिया है लेकिन अजय देवगन ने अपने साइलेंट मोड में जबरदस्त एक्टिंग की है. तब्बू का किरदार छोटा है लेकिन जैसा भी है, उन्होंने बहुत अच्छा किरदार किया है. लेकिन कहानी का कुछ हिस्सा ऐसा है जिसे देखकर पता चलता है कि आगे भी ऐसा हो सकता है. पुलिस अफसर गायकोंडे हाथ उठाते हैं तो फिल्म थोड़ी खो जाती है एक वरिष्ठ अधिकारी के सामने एक महिला पर और उससे पूछताछ करने पर, एक भी महिला पुलिसकर्मी नहीं है।

फिल्म की बात करें तो फिल्म को बहुत ही बेहतरीन तरीके से बनाया गया है. पटकथा अच्छी है, संगीत अच्छा है और निर्देशन अच्छा है। फिल्म में एक्टिंग सभी ने अच्छी की है और फिल्म काफी लोगों को पसंद आने वाली है.

रेटिंग 3.5/5

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *